मोदी सरकार ने क्यों किया पाकिस्तान के नेशनल डे का बहिष्कार

164

जब जब हमारे भारत पर पाकिस्तान ने निशाना साधने की कोशिस भी की तब तब उसे मुहं की खानी पड़ी है भारत ने न केवल अपनी सैनिक शक्ति से बल्कि अपनी कूट नीतियों की राजनीति से समूचे विश्व में पाकिस्तान को तार तार कर के रख दिया है, पाकिस्तान में 23 मार्च को नेशनल डे या रिपब्लिक डे के रूप में मनाया जाता है
पाक दिवस के लिए पाकिस्तान में जम कर तैयारी की गयी है और खूब जोर शोर से नेशनल डे मानना शुरू हो गया है लेकिन इस बार पाकिस्तान के नेशनल डे का रंग भारत ने फीका कर दिया है क्योकि भारत सरकार ने पाकिस्तान को करारा झटका दे दिया है नहीं होगा भारत की और से कोई भी प्रतिनिधि शामिल -जिस पर पाक दिवस माने के लिए पाकिस्तान की जम कर किरकिरी, हो रही है

पाकिस्तान नॅशनल डे को भारत में भी मनाया जाता है जी हाँ अपने सही सुना , आपको बता दे दिल्ली के पाकिस्तान सचिवालय में २३ मार्च को नेशनल डे मनाया जायगा जिसमे भारत सरकार को भी न्यौता दिया जाता है हर साल भारत की तरफ से कोई एक प्रतिनिधि इसमे शामिल होता है लेकिन इस बार भारत के साथ साथ हुर्रियत के नेताओ को भी इसका न्यौता भेजा गया और साथ ही साथ कश्मीरी अलगावादियों को भी न्यौता भेजा है इस पर मोदी सरकार ने कड़ा रुख अपनाते हुए ये साफ कर दिया है के भारत की तरफ से कोई भी इस में शामिल नही होगा क्योकि जो नीच हारकत पाकिस्तान ने की है उस पर भारत सरकार पाकिस्तान के लिए सखती से पेश आयगी
सूत्रों से ये भी खबर मिली है की ना केवल भारत में बल्कि इस्लामाबाद में भी पाकिस्तान के नेशनल डे पर भारत की और से कोई शामिल नहीं होगा , भारत सरकार ने साफ तौर पर इसका बहिष्कार कर दिया है जानकारो से ये भी मालूम हुआ है के यदि हुर्रियत या अलगावादी नेताओ में से किसी की भी अगुवाई होती है तो उनको हिरासत में भी लिया जा सकता है

आपको ये बताते चले के जो सख्ती के कदम भारत सरकार पाकिस्तान के खिलाफ उठा रही है ये पुलवामा अटैक में शहीद हुए जवानों के लिए मोदी सरकार द्वारा जवानों के प्रति सम्मान और देश भगती को दर्शाता है
इतना सबकुछ हो जाने के बाद भी पाकिस्तान के वेदेश मंत्री झूठ बोलने से अब भी बाज़ नहीं आ रहे है शाह मेम्ह्मुद खुरेशी का अभी भी ये ही कहना है के पुलवामा अटैक में पाकिस्तान का कोई हाथ नहीं था खुरेशी ने समजोता ब्लास्ट पर विशेष अदालक के फैसले पर भी सवाल उठाये और जिन आरोपियों को छोड़ा गया उन आरोपियों के बरी होने पर भी उन्होंने हैरानी जताई.. और तो और खुरेशी के इस बयान से ये भी साफ हो गया के चीन की मदद से आतंकी मसूद अज़र को UNSC में बैन से बचने की कोशिश

the Hindu अख़बार की एक एडिटर साहिबा है सुहासिनी हैदर – इन्होने अपने tweet में लिखा है की भारत सरकार के द्वारा पाकिस्तान के रिपब्लिक डे का बहिस्कार करना सही नहीं है इसको डिप्लोमेटिक तरीके से भी हल किया जा सकता था और तो और दिल्ली में जो पाकिस्तान सचिवालय है वहां रिपब्लिक डे में लोगो को शामिल होने से नहीं रोकना चाहिये आपसी बातचीत से मसला हल हो सकता है
इनके इस tweet के बाद जम कर इनकी खिचाई हो रही है लोगो ने इनको पाकिस्तान जाने की साला तक दे डाली

इन सब से ये बात तो साफ है के लोगो को न प्रॉब्लम बहुत है क्योकि जब भारत सरकार अपने कड़े फैसलों से पाकिस्तान को जड़ से हिला कर रक रही है आतंकवाद के खिलाफ समूचे विश्व में भारत ने कड़े रुख से निंदा कर रही है तब इन जैसे लोगो को प्रॉब्लम होनी शुरू हो जाती है

ख़ैर वेसे आपको बता दे भारत सरकार ने पाकिस्तान को चिढाने और विश्व में भारत की गरिमा और उदारता को दर्शाने के लिए एक बधाई सन्देश पाकिस्तान के वाज़िरेआलम को भेजा है जिसको पढ कर पाकिस्तान ये नहीं समज पाया के ये बधाई है या पिटाई …
वेसे इस पर हम भी पाकिस्तान से ये ही कहना चाहेंगे के भाई – belated हैप्पी होली और पाकिस्तान वालो ज़रा बचा के रखना अपनी चनिया चौली .