दुर्गा पूजा को लेकर आखिर इतनी सख्त क्यों हो गयी है ममता बनर्जी?

0
116

लोकसभा चुनाव के पहले से ही पश्चिम बंगाल और ममता बनर्जी सुर्ख़ियों में बनी हुई है. कुछ ना कुछ ऐसी खबरें आ ही रही हैं जो ममता को सुर्ख़ियों में रखती है. पहले जय श्री राम कहने पर ममता बनर्जी भड़क जाती है फिर लोग ममता को देखते ही जय श्री राम चिल्लाने लगते हैं ठीक उसी तरह जैसे बच्चे आपस में एक दुसरे को चिढाने के लिए बोलते हैं. खैर इस पश्चिम बंगाल में सड़कों पर नमाज पढने के विरोध में हनुमान चालीसा का पाठ किया जा रहा है. पश्चिम बंगाल के कई क्षेत्रों से ऐसी खबरें आई है जहाँ सड़कों पर नमाज के खिलाफ लोगों हनुमान चालीसा का पाठ करने उतरे.

अभी हाल ही में ममता बनर्जी ने बाबा जगन्नाथ के रथ को झंडी दिखाकर रवाना किया था. तब स्थिति तो कुछ और ही समझ आ रही थी. लेकिन अब खबर सामने आ रही है कि ममता सरकार सभी पुलिस स्टेशन तक ये सन्देश भिजवा दिया है कि सड़कों पर एक भी दुर्गा पंडाल नही बनायें जायेंगे. आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है. ये हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार है.
खबर के मुताबिक कहा जा रहा है कि बीते साल दुर्गा पूजा के दौरान कई जगह से सड़क जाम की शिकायत सचिवालय में जमा पड़ी थी। इसी शिकायत को आधार बनाकर यह कड़ा कदम उठाया जा रहा है। निर्देश में स्पष्ट कहा गया है कि यदि कहीं पूजा पंडाल के कारण सड़क जाम की स्थिति या लोगों के परेशानी होनी की संभावना भी दिखती है तो ऐसी स्थिति में उस जगह पर पंडाल निर्माण की अनुमति नहीं होगी। यह निर्देश कोलकाता के साथ राज्य के सभी जिलों के लिए भी लागू होगा। आदेश की कापी सभी पुलिस थाने के साथ पूजा कमेटियों को भी भेज दी गई है।


कोलकाता समेत राज्य में कई जगह छोटे-बड़े पूजा पंडाल का निर्माण होता है। कई जगह स्थान अभाव के कारण पूजा पंडालों के लिए सड़क का भी इस्तेमाल कर लिया जाता है । जब लोग बड़ी मात्रा में दर्शन करने के लिए आते हैं तो जाम की स्थिति बन जाती है. खैर जाम की स्थिति से निपटने की बात कहकर सड़कों पर पंडाल लगाने से मना किया गया है लेकिन देखने वाली बात है कि जिस तरह से नमाज के खिलाफ पश्चिम बंगाल के लोग सड़कों पर हनुमान चालीसा का पाठ कर विरोध कर रहे हैं. यहाँ भी कारण यही दिया गया था कि आखिर नमाज के लिए सड़क क्यों बंद कर दी जाती है, नमाज पढने की वजह से सड़कें जाम हो जाती है. अब यही सेम कारण देते हुए ममता सरकार ने सड़कों पर पांडाल ना लगाने का बड़ा फैसला लिया है तो पश्चिम बंगाल की जनता सरकार के इस फैसले को किस रूप में लेती है.


हालाँकि सोशल मीडिया पर ये जरूर कहा जा रहा है कि केवल दुर्गा पूजा ही क्यों? ये तो साल में एक बार आता है।अगर रोक लगाना है तो रोड पर होने वाले सारे धार्मिक कार्यक्रम पर रोक लगाओ चाहे पूजा हो या नमाज़…