दिल्ली बना दुनिया का तीसरा सबसे ज्यादा नशे करने वाला शहर

5162

वैसे तो इंडिया में weed illegal है. लेकिन, एक रिपोर्ट ने चौका देने वाला सच सभी के सामने ले आया है, इंडिया के दो सबसे बड़े शहर जहां पर weed पूरी तरह से वर्जित/ बैन है, फिर भी यही दो शहर दुनिया के सबसे ज्यादा weed फूकने वालों की लिस्ट में अव्वल नंबरों पे आते है. आज हम आपको ऐसे टॉप 10 शेहरों के बारे में बताएँगे जो weed का सबसे ज्यादा सेवन करते है. weed शब्द अपने सुना ही होगा. आज कल के युवओं में ये शब्द बहुत प्रचिलित है. फिर भी हम आपकी जानकारी के लिए बता देते है. ये एक नशीला पदार्थ है जो अलग अलग जंगली पोधों और अलग अलग तरीको से बनाया जाता है. वैसे आपने नशे में धुत इंसान को तो देखा ही होगा . फिल्मों में भी आजकल यही दिखाया जाता है कि लोग अपनी छोटी मोती परेशानियों के चलते एसी चीजों का सेवन करना शुरू कर देते है.

भारत की राजधानी दिल्ली और Commercial Center Mumbai दुनिया भर में weed की सबसे ज्यादा सेवन करने वाले शहरों में से हैं, ये एक ABCD 2018 कैनबिस प्राइस इंडेक्स की Survey रिपोर्ट से पता चला है. रिपोर्ट में पाया गया है कि 2018 में सबसे ज्यादा मात्रा में weed फूंकने के मामले में दिल्ली और मुंबई दुनिया के बड़े 10 शहरों की लिस्ट में शामिल हैं. ABCD, जो जर्मनी में स्थित एक data-driven media campaign outlet है, जो भांग की खपत को वैध बनाने पर जोर दे रहा है. आपको बता दे कि illegal होने के बाद भी 2018 में दिल्ली में 38.3 टन weed की बिकरी की गई और दुनिया में सबसे अधिक weed फूंकने वाला तीसरे शहर बन गया. वहीं मुंबई ने पिछले साल 32.4 टन नशीले पदार्थों की बिकरी की और ये करने वाला वो छठे शहर के स्थान में आ गया है.

आपको बता दे कि न्यूयॉर्क लगभग 77.44 मीट्रिक टन की बिकरी के साथ इस लिस्ट में सबसे पहले नंबर पर है. कराची में लगभग 41.95 मीट्रिक टन की खपत के साथ लिस्ट में दूसरे नंबर पर है. 36.06 मीट्रिक टन की खपत के साथ लॉस एंजिल्स इस लिस्ट में चौथे स्थान पर है. इस टॉप 10 की लिस्ट में शामिल होने वाले अन्य शहरों में शिकागो (24.55 टन के साथ आठवां स्थान),Cairo (32.2 टन के साथ पांचवां स्थान), लंदन (31.4 टन के साथ सातवां), मास्को (22.9 टन के साथ नौवां) और टोरंटो (22.7 टन के साथ दसवां) हैं.

1980 के दशक तक weed भारत में स्वतंत्र रूप से उपलब्ध था. लेकिन उसके बाद सरकार ने इसे Narcotic Drugs and Psychotropic Substances Act 1985 के तहत प्रतिबंधित कर दिया था. लेकिन भारत में अभी भी weed की बिक्री अवैध रूप से जारी है और दिन ब दिन बढ़ती ही जा रही है. हमारे देश में सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि आजकल की युवओं को इसके नुकसानों के बारे में पता ही नही है. इसलिए वो इसे कूल समझकर इसका सेवन करना शुरू कर देते है. कूल दिखने की चाह कब इन्हें इसके लत में धकेल देती है इन्हें ये खुद ही नही पता चलता.