अभी और बढेंगी आजम खान की मुश्किलें! रामपुर की पुलिस का फैसला

1058

उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री और सपा के कद्दावर नेता आजम खान की मुसीबतें कम होने का नाम नही ले रही हैं. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने पहले आजम खान भू माफिया घोषित कर दिया. उनकी यूनिवर्सिटी में छापेमारी की और अब योगी सरकार आजम खान को लेकर एक और कदम उठाने जा रही है. इससे ये साफ़ हो जाता है कि आजम खान की मुसीबतें कम नही होने वाली हैं.

सपा के भू माफिया नेता आजम खान को अब हिस्ट्रीशीटर घोषित किये जा सकते हैं. रामपुर पुलिस अब आजम खान की हिस्ट्री खोलने जा रही हैं. जो जानकारी मिली है कि आजम खान पर अप्रैल से अब तक 72 मामले दर्ज हो चुके हैं. ज्यादातर मामले आपराधिक हैं. जमीन कब्जाने से लेकर चोरी तक के आरोप उन लगे हैं. रामपुर के जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने बताया कि उन्होंने उनकी हिस्ट्रीशीट खोलने का फैसला किया है.

रामपुर से सांसद आजम खान पर मदरसे से किताबें चोरी करने के साथ साथ रामपुर में क्लब से शेर की मूर्तियाँ चुराने का भी आरोप है. कई लोगों की जमीन हड़पने के आरोपी भी आजम खान पर हैं. आजम खान ने रामपुर में बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि उप चुनाव सामने है, ये जुल्म करके और यूनिवर्सिटी बर्बाद करके क्या चुनाव जीत लेंगे? क्या मुझे हरा पाएंगे? ये क्‍या ऐसे जुल्म करके चुनाव जीतेंगे?

वहीं इस पूरे मामले पर बोलते हुए रामपुर के एसपी अजय पाल शर्मा ने कहा कि आजम खान पर जिन धाराओं के तहत मुकदमे दर्ज हैं, वो उनकी गिरफ्तारी के लिए सक्षम हैं. बता दें कि सत्ता में रहते हुए पद का दुरुपयोग और दबंगई में लोगों की जमीन हड़पने का आरोप उन पर लगा है जहाँ पर आज जौहर यूनिवर्सिटी बनी हुई है. हालाँकि आजम खान का कहना है कि उन्हें बेवजह परेशान किया जा रहा है.