भारत से द्विपक्षीय व्यापार ख़त्म कर टमाटर-प्याज के लिए तरसेगा पाकिस्तान

93

केंद्र सरकार ने कश्मीर से धारा 370 हटा कर उसे देश की मुख्यधारा में शामिल करने का ऐलान किया तो पाकिस्तान की बौखलाहट देखने लायक थी . दो दिनों तक माथापच्ची करने के बाद पाकिस्तान सरकार इस नतीजे पर पहंची कि भारत को सबक सिखाना चाहिए . अब सबक सिखाने के लिए पाकिस्तान ने भारत के साथ सभी द्विपक्षीय व्यापार को रद्द कर दिया और डिप्लोमेटिक सबंधो में कटौती कर दी . मतलब ये कि अब पाकिस्तान भारत से ना तो कुछ खरीदेगा और ना बेचेगा, साथ ही वो नयी दिल्ली से अपने उच्चायुक्त को वापस बुलाएगा और इस्लामाबाद से भारत केउच्चायुक्त को भारत भेजेगा . पाकिस्तान ने भारत के लिए अपने एयरस्पेस भी बंद कर दिया है . समझौता एक्सप्रेस को रोक दिया है और बॉलीवुड की फिल्मों पर भी प्रतिबन्ध लगा दिया है , भारत को इससे कोई घाटा नहीं होने वाला, आइये आपको बताते हैं कैसे.

पाकिस्तान ने भारत को सबक सिखाने के लिए द्विपक्षीय व्यापार रद्द करने की घोषणा की . जबकि सच्चाई तो ये है कि पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से MFN का दर्जा छीन लिया था इससे पाकिस्तान से भारत में आयात मार्च में 92 प्रतिशत घटकर 28.4 लाख डॉलर तक पहुँच गया . भारत के साथ वह पहले से ही व्यापार घाटे में था और अब यह अंतर बहुत बढ़ गया है . पाकिस्तान पर भारत की निर्भरता बहुत कम है, जबकि पाकिस्तान रोजमर्रा की जरूरत की तमाम चीजें भारत से मंगाता है. आपको तो याद ही होगा जब भारत ने पाकिस्तान को टमाटर भेजना बंद कर दिया था तो किस तरह वहां तौबा तौबा का मकाम आ गया था. पाकिस्तान प्याज भी भारत से मंगवाता है . अब द्वपक्षीय व्यापार बंद होने के बाद आशंका है कि पाकिस्तान में फिर से तौबा तौबा का मकाम आने वाला है .

पाकिस्तान ने डिप्लोमैटिक संबंधों में भी कटौती कर दी है . भारत के उच्चायुक्त को वो भारत भेजेगा जबकि अपने उच्चायुक्त को वापस बुलाएगा लेकिन . सच ये है कि इस वक़्त भारत में पाकिस्तान का कोई उच्चायुक्त है ही नहीं. पाकिस्तान ने मोईन उल हक को भारत के उच्चायुक्त के  लिए नियुक्त किया था उन्होंने अभी तक नई दिल्ली आ कर अपना कार्यभार नहीं संभाला है . पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत ने इसपर तंज कसते ट्वीट किया “नई दिल्ली में इस वक़्त पाकिस्तान का कोई एम्बेसडर नहीं है . लेकिन हम चाहे तो आज अपना एम्बेसडर नई दिल्ली भेज कर कल उन्हें वापस बुला सकते हैं . इससे अच्छा प्रभाव पड़ेगा और भारत पर दवाब भी”

पाकिस्तान ने अपने कुछ एयरस्पेस को भारतीय विमानों के लिए बंद कर दिया है . पाकिस्तान की सिविल एविएशन अथॉरिटी द्वारा जारी नोटिस टु एयरमैन (एनओटीएएमएस) के मुताबिक, एयरस्पेस 6 अगस्त से 5 सितंबर तक के लिए बंद रहेंगे. लाहौर रीजन में विदेशी विमानों को 46 हजार फीट से नीचे उड़ने की अनुमति नहीं होगी, जबकि अफगानिस्तान से उड़ान भरने वाले जहाजों को वैकल्पिक मार्गों के इस्तेमाल करने का निर्देश दिया गया है. पाकिस्तानी एयर स्पेस से एयर इंडिया की रोजाना करीब 50 फ्लाइट्स गुजरती हैं .  एयर इण्डिया का कहना है कि पाकिस्तान के फैसले से हमें ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा, इससे यात्रा समय में बस 12 मिनट का बदलाव होगा . बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपने सभी एयर स्पेस को बंद कर दिया था . जबकि भारत में सब कुछ सामान्य गति से चल रहा था … भारत के कदम से इमरान खान ओने ही देश में बुरी तरह घिरे हुए हैं और जिस तरह से किसी भी देश ने कश्मीर से सीधी प्रतिक्रिया नहीं दी उससे पाकिस्तान की विदेश निति भी वहां सवालों के घेरे में है .