Home Minister बनते ही अमित शाह सबसे पहले करेंगे इन मामलों का निपटारा?

भाजपा में अपना बखूबी तरीके से राष्ट्रीय अध्यक्ष का कार्यकाल निभाने के बाद अब अमित शाह के  रूप में हमारे देश को नया होम मिनिस्टर मिल गया है,क्यों की पीएम मोदी के पहले कार्यकाल में राजनाथ सिंह बीजेपी के होम मिनिस्टर थे आसीन थे, वैसे अमित शाह अभी तक भाजपा के अध्यक्ष के पद पर बरकरार हैं, लेकिन पार्टी के संविधान के अनुसार वे जल्द ही ये पद खाली कर देंगे और नया अध्यक्ष भाजपा को मिल जायेगा..वैसे आपको यहाँ ये भी बता दें कि वे पहले गुजरात में गृह मंत्री पद के जिम्मेदारी निभा चुके है.. तो उन्हें बहुत अच्छी तरीके से इस पद के कामों को समझते है,अब जब अमित शाह को ये पद दिया गया है तो इसके पीछे कई कारण भी होंगे, और जानकारों का तो ये भी कहना है कि कि वे एक बहुत ही मजबूत गृह मंत्री साबित होंगे…पर आज हम आपको उनके शुरुवाती कार्य भार से रिलेटेड कुछ चुनौतियाँ के बारे में बात करना चाहते है, कि अमित शाह को इन मुद्दों पर काम करना पड़ेगा.

Image result for amit shah

तो सबसे पहला मुद्दा है पाकिस्तान के साथ अमित शाह से पाला

भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कुछ अच्छे नहीं चल रहे है,ऐसे में अमित शाह के होम मिनिस्टर बनने से लगता है कि पाकिस्तान वाले मुद्दे पर बात चीत हो सकती है क्यों कि अमित शाह को हर मुद्दे पर एक दम सटीक बात रखने की आदत है और अगर वो पाकिस्तान के मामले में अपना हाथ आजमाएंगे तो देश के लिए अच्छा होगा

पश्चिम बंगाल में हिंसा पर होगा काबू

लोकसभा चुनाव के दौरान सबसे ज्यादा हिंसा की घटनाये पश्चिम बंगाल से ही आ रही थी ,और चुनाव के बाद भी वो दौर थमा नहीं ,बूथ कैप्चरिंग और अमित शाह के रोड़े शो के दौरान पथराव, ये वो मामले थे जो सबसे ज्यादा हइप पे थे तो अब उम्मीद की जा रही है ,कि अमित शाह इन हिंसाओं की घटनाओं के उपर भी नक़ल कास सकते है ,क्यों की बंगाल में बीजेपी ने उम्मीद से जयादा अच्छा प्रदर्शन किया है ,तो अब कार्यकर्ताओं  में भी जोश और हिम्मत आगये है आवाज़ उठाने की

नक्सलियों हमलों पर कसेगा शिकंजा

कई बार आपने सुना होगा कि इईदी ब्लास्ट में कई जवान शहीद हो गये या फिर घायल हो गए ,ये ब्लास्ट नक्सलीयों द्वारा कराये जाते है , लोकसभा चुनाव के दौरान भी कई नक्सली हमलें हुए थे ,और अभी कुछ दिन पहले भी ये ख़बरें आई थी कि कि नक्सली ब्लास्ट में 15 जवान घायल हो गये थे ,तो ऐसे में अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद सबसे पहले इसके निपटारे की उम्मीद की जा रही है.