2019 लोकसभा में महिलाओं की दिखाई दी धमक, संख्या में हुआ इजाफा

लोकसभा चुनाव के नतीजे सामने आ गये हैं. उम्मीदवारों के जीत हार का फैसला हो गया है.  सरकार किसकी बनने जा रही है इस बात का फैसला हो चुका है. जन नतीजे सामने आये तो अलग अलग मुद्दों पर लोगों को हैरान कर दिया.. एनडीए को मिली प्रचंड जीत हो, कांग्रेस की बड़ी हार हो, महागठबंधन की विफलता हो, या फिर बीजेपी की बम्पर जीत हो.. हैरानी वाली बात कई थी लेकिन अभी मैं आपको बताने जा रहा हूँ कि इस बार देश की संसद में महिलाओं को धमक बढ़ने जा रही हैं. जी हाँ संसद में इस बार महिलाओं की संख्या बढ़ने जा रही है. लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की और उसके 300 से ज्यादा उम्मीदवार संसद पहुंचे. इन चुनावों में कई रिकॉर्ड बने जिनमें कि सबसे खास है महिलाओं की भागीदारी का बढ़ना.

इस चुनावों में 78 महिलाएं संसद पहुंची हैं. जिसमें से अकेले बीजेपी की 40 महिलायें सांसद शामिल हैं. टीएमसी की 9 सांसद हैं कांग्रेस की 6 सासंद हैं बीजेडी की चार, वाईएसआर की चार, दो दलों की 2-2 महिलाएं और करीब 9 दलों की 1-1 महिला उम्मीदवार संसद पहुंची हैं. इन 76 विजयी महिला उम्‍मीदवारों में से 28 दोबारा चुनाव जीतकर पहुंची हैं। साल 2014 के लोकसभा चुनाव की तुलना में यह संख्‍या  ज्‍यादा है। पिछले लोकसभा चुनाव में कुल 663 महिलाओं ने चुनाव लड़ा था, जिनमें से 66 महिलाएं संसद पहुंची थीं। उत्तर प्रदेश से बीजेपी की तरफ से 10 महिलाएं चुनी गयी है. जोंकी पिछले लोकसभा चुनाव यानी 2014 में यह संख्या 13 थी. हालाँकि इस बार इन सबमें स्‍मृति इरानी की जीत बेहद खास है। स्‍मृति ने अमेठी लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को शिकस्‍त दी है।

वही महाराष्ट्र से आठ महिलायें संसद पहुंची हैं . जिसमें बीजेपी की तरफ छ महिलाएं चुनी गयी है. यह आकडा पिछले लोकसभा चुनाव यानि 2014 में छ ही था इस बार महाराष्ट्र से महिलाओं की संख्या में 33 फीसदी का इजाफा हुआ है. मुंबई उत्तर मध्य लोकसभा सीट से दिवंगत भाजपा नेता प्रमोद महाजन की पुत्री पूनम महाजन विजयी हुई हैं। वहीं बीड लोकसभा सीट से भाजपा नेता प्रीतम मुंडे ने चुनाव जीता है। एनसीपी की सुप्रिया सुले तीसरी बार बारामती से चुनाव जीती हैं।

वही बिहार से तीन और पश्चिम बंगाल से नौ महिलाओं की जीत हुई है. बिहार की तीनों जीती हुई महिलाएं बीजेपी से हैं तो पश्चिम बंगाल में दो महिलाओं ने बीजेपी के टिकट पर जीत हासिल की है. इसके साथ ही गुजरात में पांच और मध्य प्रदेश में चार महिलाओं ने जीत हासिल की है.

2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी की तरफ से 53 और कांग्रेस की तरफ 54 महिलाओं को टिकट दिया गया था वहीँ बीजेपी के टिकट पर 38 महिलायें और कांग्रेस की तरफ छ महिलाओं ने जीत दर्ज की है.

यहाँ आपको यह भी बताना जरूरी है कि इस बार देश कि महिलाओं ने 2014 की अपेक्षा अधिक वोट की हैं. देश की 13 राज्यों में से 11 राज्यों में महिलाओं की वोटिंग प्रतिशत में बढ़त दिखाई दिया है. जिन राज्यों में महिलाओ ने अधिक मतदान किया है वे हैं. बिहार, उत्तराखंड, मणिपुर, मेघालय, गोवा, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, केरल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पुड्डूचेरी, दमन दीव, लक्षद्वीप हैं.. वहीँ मध्य प्रदेश में भी पिछली बार की अपेक्षा 12 फीसद अधिक मतदान किया है.

प्रधानमंत्री मोदी ने महिला सशक्तिकरण का बीड़ा उठाया था. आज संसद में महिलाओं की धमक दिखाई दे रही हैं. नरेन्द्र मोदी की पिछली सरकार के मंत्रीमंडल में भी महिलाओं की धमक देखने को मिली थी. अब भारतीय जनता पार्टी को एक बार फिर बहुमत मिला है और जल्द ही देश में फिर से मोदी सरकार मिलने वाली है. भारतीय जनता पार्टी ने 300 प्लस के मिशन के साथ चुनाव में उतरी थी और इस मिशन पर कामयाब भी हुई. एनडीए को देश में बड़ी जीत मिली. कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने भी नरेन्द्र मोदी को बधाई दी. खबर के अनुसार 30 मई को नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं.