इन नेताओं ने भी लड़ा था दो लोकसभा सीटों से चुनाव? राहुल गांधी का क्या होगा

127

देश में चुनावी माहौल है और अभी भी उम्मीदवारों की लिस्ट जारी हो रही हैं. सबकी नजर देश के सबसे चर्चित नेताओं पर है कि वे कहाँ से चुनाव लड़ेंगे? इसमें राहुल गाँधी, नरेन्द्र मोदी, सोनिया गाँधी जैसे नेता शामिल हैं. राहुल गाँधी के बारे में आपको जानकारी तो मिल ही गयी होगी कि वे इस बार दो जगह से चुनाव लड़ेंगे! अमेठी से तो वे पहले ही लड़ते और जीतते आये हैं लेकिन अब वे केरल के वायनाड से लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं… हालाँकि इसके पीछे कांग्रेस पार्टी की क्या सोच है हमें नही पता लेकिन हम इतना जानते हैं कि अमेठी में राहुल गाँधी के खिलाफ काफी आक्रोश देखने को मिला है और साथ ही अमेठी से दूसरी बार स्मृति इरानी कड़ी टक्कर दे रही हैं… पिछली बार की अपेक्षा इस बार बीजेपी के प्रति जनाधार भी अमेठी में बढ़ा है..


इसी के साथ आइये हम आपको बताते हैं कि कौन कौन से वे बड़े नेता है जिन्होंने दो सीटों से चुनाव लड़ा है.
इस लिस्ट में पहले नंबर हैं अटल बिहारी वाजपेयी… अटल विहारी वाजपेयी को 1957 में जनसंघ ने तीन लोकसभा सीटों लखनऊ, मथुरा और बलरामपुर से चुनाव लड़ाया। लखनऊ से तो वे हार गये..मथुरा में जबानत जब्त हो गयी लेकिन बलरामपुर से अटल जी जीते और संसद में पहुंचे थे. जहाँ प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु ने उनकी प्रतिभा को प‍हचाना और कहा कि यह नौजवान भविष्‍य में देश का प्रधानमंत्री बनेगा और आगे चलकर यह बात सही साबित हुई।


इंदिरा गाँधी भी दो सीट से लड़ चुकी हैं. साल 1980 में मेडक और रायबरेली दो जगहों से जगहों से चुनाव लड़ी और विजयी हुईं। हालाँकि इससे पहले 1975 में हार के बाद 1978 में इंदिरा गांधी ने कर्नाटक के चिकमंगलूर में उप चुनाव में जीत हासिल की और वापसी का संकेत दे दिया था.


लालकृष्ण अडवानी.. बीजेपी के बड़े और वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण अडवानी ने भी दो सीटों से चुनाव लड़ा. 1991 में नई दिल्‍ली और गांधी नगर सीटों पर चुनाव लड़े और विजयी हुए… हालाँकि इसके बाद उन्होंने गांधी नगर की सीट को अपने पास रखी और नई दिल्ली की सीट को छोड़ दिया.


सोनिया गाँधी …. कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गाँधी भी दो सीटों से चुनाव लड़ चुकी हैं. कर्नाटक के बेल्लारी और अमेठी से एक साथ चुनाव लड़ी थी और जीती भी थी हालाँकि बाद में उन्होंने अमेठी को अपने पास रखा जहाँ से आज राहुल गाँधी सांसद है और एक बार फिर ताल थोक रहे हैं.


अखिलेश यादव साल 2009 में सपा सुरीमों और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव दो जगहों से चुनाव लड़ चुके हैं. उन्होने कन्नौज और फिरोजाबाद से चुनाव लड़ा था हालाँकि बाद में उन्होंने फिरोजाबाद से इस्तीफा दे दिया था.


लालू प्रसाद यादव
इस लिस्ट में जेल की हवा खा रहे लालू प्रसाद यादव भी शामिल हैं. जिन्होंने दो लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ा और जीता भी था. 2009 में सारण और पाटिलपुत्र से चुनाव लड़े और सारण सीट से विजयी रहे।
मुलायम सिंह यादव
2014 लोकसभा चुनाव में मुलायम सिंह यादव ने मैनपुरी और आजमगढ़ से चुनाव लड़ा था दोनों जगहों से जीत हासिल की बाद में उन्होंने आजमगढ़ की सीट को अपने पास रखा हालाँकि इस बार मुलायम सिंह यादव चुनाव नही लड़ रहे है.


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
2014 लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने दो जगहों से चुनाव लड़ा था दोनों जगहों से जीत हासिल की थी इसमें वलसाड और वाराणसी शामिल थे. हालाँकि बाद में पीएम मोदी ने वलसाड सेट को छोड़ दिया था…
और अब राहुल गाँधी
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अब अमेठी के साथ साथ केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़ने जा रहे हैं. हालाँकि देखने वाली बात है कि आखिर राहुल किस सीट से जीत दर्ज कर पाते हैं?