पाकिस्तान ने मसूद अजहर को किया रिहा,दोनों मिलकर कर रहे भारत के खिलाफ प्लानिंग

3972

भारत को human rights उल्लंघन के लिए नसीहत देने वाले पाकिस्तान को अपने गिरेबान में झाँकने की जरुरत है. पाकिस्तान जिसके पास चाय पीने तक के पैसे नही है. पाकिस्तान जो दुनिया के सामने भीख मांग रहा है. पाकिस्तान जिसके विरोध में खुद पाकिस्तानी आवाम सडकों पर आ गई थी. इन सब के बाद भी वो अपनी हरकतों से बाज नही आ रहा है. जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने की बौखलाहट में पाकिस्तान एक बड़े हमले की साजिश रच रहा है. आपको बता दे कि सियालकोट-जम्मू-राजस्थान का इलाका उसके निशाने पर है. इस साजिश को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी सरगना मौलाना मसूद अजहर को गुपचुप तरीके से जेल से रिहा कर दिया है.

खुफिया एजेंसियों ने बताया कि पाकिस्तान ने राजस्थान से लगी सीमाओं और सियालकोट-जम्मू सेक्टरों में सैनिकों की तैनाती को बढ़ा दिया गया है. मसूद अज़र ने भारत के खिलाफ अपनी नापाक प्लानिंग करनी शुरू कर दी है. मसूद अजहर ने अपनी गाइड लाइन जारी करते हुए आतंकियों को पत्थरबाजी से दूर रहने को कहा है. आतंकियों पहचान को छुपाए रखने के लिए कहा है. उसने आतंकियों को फोन और मैसेज पर बात नहीं करने को भी कहा है. 7 सितंबर को भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल ने भी बताया था कि करीब 230 आतंकी सीमा पर घुसपैठ की फिराक में हैं. उन्होंने ये भी कहा था कि सेना पाकिस्तान की नापाक प्लानिंग से कश्मीरियों की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है.

14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान ने मसूद अजहर को गिरफ्तार किया था. हालांकि भारत ने तब भी कहा था कि अजहर मसूद की गिरफ्तारी बस एक दिखावा है और अब उसकी गुपचुप रिहाई से साफ हो गया है कि पाकिस्तान ने मसूद अजहर की गिरफ्तारी का नाटक किया था. आपको बता दें कि आज ही FATF की क्षेत्रीय इकाई एशिया पेसिफिक ग्रुप APG के सामने पाकिस्तान की पेशी है. पाकिस्तान के पास ब्लैकलिस्ट होने से पहले ये आखिरी मौका था, लेकिन पाकिस्‍तान ने मसूद अजहर को रिहा कर के अपने ही पैरों पर कुल्‍हाड़ी मार ली है. भारतीय सेना भी जम्मू कश्मीर- सियालकोट पर कड़ी नज़र रखे हुए है. ऐसे में आतंकी अपनी किसी भी प्लान में कामयाब नही हो पाएँगे. जेसे मोदी सरकार ने पाकिस्तान को दुनिया से अलग थलग कर दिया. वेसे ही अगर आ’तंकवादी अपनी हरकतों से बाज़ नही आए तो हमारी भारतीय सेना उन्हें भी जड़ से खत्म कर देगी.