चुनाव परिणाम से पहले मुलायम परिवार को बड़ी राहत, आय से अधिक संपत्ति मामले में मिली क्लीन चिट

0
182

लोकसभा चुनाव के नतीजों से ठीक पहले मुलायम परिवार को बड़ी राहत मिली है. आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI ने मुलायम सिंह यादव, उनके बेटे अखिलेश यादव को क्लीनचिट दे दी. सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दाखिल कर कहा है कि मुलायम सिंह यादव और मायावती के खिलाफ कोई साबुत नहीं मिला जिससे कि मामला दर्ज किया जा सके. सीबीआई ने बताया कि साल 2013 में ही केन्द्रीय सतर्कता आयोग को रिपोर्ट सौंपने के बाद जांच बंद कर दी गई थी, उसके बाद से मुलायम परिवार के खिलाफ कोई जांच नहीं की गई

मार्च 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को मुलायम और अखिलेश के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले में जांच रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया था .अचानक से चुनाव ख़त्म होने के बाद और परिणामों से पहले ही मुलायम परिवार को क्लीनचिट देने के पीछे क्या सरकार का हाथ है? ये हम नहीं कह रहे लेकिन सोशल मीडिया पर कई लोग ये सवाल कर रहे हैं .

दरअसल ये मामला यूपीए सरकार के वक़्त का है . कांग्रेस नेता और एडवोकेट विश्वनाथ चतुर्वेदी ने 2005 में सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर मांग की थी मुलायन सिंह, अखिलेश यादव, डिम्पल यादव और प्रतीक यादव के पास आय से अधिक संपत्ति है और इसकी जांच होनी चाहिए . उसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 1 मार्च, 2007 को सीबीआई को मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की याचिका की जांच के आदेश दिए थे. तत्कालीन यूपीए सरकार को उस वक़्त समाजवादी परतु का समर्थन प्राप्त था ,… कई बार सरकार पर ये आरोप लगे कि वो अपनी सरकार बचाने के लिए सीबीआई का इस्तेमाल कर रही है और मुलायम परिवार पर दवाब बना रही है .