CRPF जवान ने दिव्यांग बच्चे को खिलाया अपने हिस्से का खाना, वीडियो हुआ वायरल

0
79

जम्मू कश्मीर में अपने कई बार सुरक्षा बालों और आम नागरिक के बीच में हिंसा,पत्थर बजी के कई वीडियोस देखें ही होंगे ,और वो वीडियो तो सबको याद ही होगा जिसमें एक सुरक्षा बल अपना सामान लेकर जा रहा था और पीछे से कुछ पत्थर बाज़ पत्थरबाजी कर रहे थे.. उसके बाद भी सुरक्षा बालों पर ये इल्जाम लगते रहते है कि वो पत्थर बाजों के साथ बुरा व्यवहार करते है,और कुछ नेताओं का काम तो सिर्फ घटी में बैठकर अलगाववाद का राग अलापना,पर इन सब से हठ कर एक ऐसा वीडियो सामने आया है जो मानवता की जीती जगती मिसाल बन हर जगा वायरल हो रहा है,तो हमारे कुछ कहने या बताने से पहले आप खुद ये वीडियो देखिये

इस वीडियो में CRPF के जवान दिख रहे है उनका नाम इकबाल सिंह है वो 49 बटालियन के जवान है. वीडियो में आपने देख ही होगा कि इकबाल सिंह है एक बंद दुकान के सामने सीढ़ियों पर बैठे एक छोटे बच्चे को खाने खिला रहे हैं, और खान खिलते खिलते उसका मुह भी बीच बीच में बड़े प्यार से साफ़ करे है.

मीडिया रिपोर्ट्स पढने के बाद हमें पता चला कि इकबाल सिंह, जब श्रीनगर के नवाकदाल इलाके में लगभग 12.30 बजे अपना लंच कररहे थे, तभी उन्होंने देखा कि लगभग 10 साल का बच्चा एक बंद दुकान की सीढ़ियों पर बैठा हुआ है और हवो बच्चा उनसे खाना मांग रहा था, फिर वो मैं उसके पास गए और उन्होंने उसे अपना लंच बॉक्स दे दिया,पर जब उन्हें ये पता कि उसका हाथ अपाहिज है और वह खुद से खा भी नहीं सकता, तो उन्हें बहुत दुख हुआ, पर उसके बाद उन्होंने जो किय वो अप सब ने देखा कि किस तरह उन्होंने उस बच्चे को अपने हाथ से खाना खिलाया..

जब वो उस बच्चे को खाना खिला रहे थे तो उन्हें ये भी नहीं पता था कि कोई वीडियो भी बना रहा है, या उनका वीडियो एक सन्देश के साथ लोगों तक पहुचेगा..ये वीडियो किसने बनाया ये तो पता नहीं चल पाया पर इस वीडियो की तारीफ हर जगह हो रही है.

तारीफ करने वालों में कुमार विश्वास भी है जिन्होंने ट्वीट करके उनकी तारीफ कि ही और लिखा है कि ये भूख-प्यास-तलब जिसकी है मेहरबानी, उसी का काम है, सबको मिले दाना पानी..!महबूबा मुफ़्ती ने भी ट्वीट करके crpf जवान की तारीफ की है .

इस वीडियो को जम्मू कश्मीर पुलिस और CRPF श्रीनगर ने भी अपनी वेरीफाइड Twitter हैंडल से शेयर किया, और लिखा ‘अब तो मज़हब कोई ऐसा भी चलाया जाए, जिसमें इंसान को इंसान बनाया जाए..ये पंक्तियाँ कवि गोपाल दास नीरज जी की है..जो उन्हें अपने ट्वीट के साथ लिखी है

वैसे न्यूज एजेंसी एएनआई केअनुसार, जवान इकबाल सिंह उन जवानों में से है। जो 14 फरवरी को सीआरपीएफ के उस काफिले में शामिल थे जिसपर आतंकी हमला हुआ था। जिस हमले में हमारे 40 जवान शहीद हुए थे,और जवान इकबाल उस काफिल में एक वाहन को चला रहे थे, हमले के बाद भीउन्होंने अपना कर्तव्य निभाते हुए अपने कई साथियों की जान बचाई थी। और अब उनके बच्चे को ऐसे खाना खिलते हुए इस मानवीय काम को भी CRPE DG ने सम्मानित करने का ऐलान किया है.

लेकिन घाटी से कई ऐसी तस्वीर सामने आती रही है, जो सेना के जवानों को नागरिको पर अत्याचार करने वाला या हिंसा करने वाल बताती है, पर CRPF ने हर वक्त नागरिकों के हितों में बिना किसी स्वार्थ के काम करते रहते है.