ख़बरें

शरद पवार जी मुस्लिमों की वोट पाने के लिए पाकिस्तान की तारीफ करना जरुरी...

शरद पवार NCP के जाने मने नेता है, महाराष्ट्र के मुख्यामंत्री भी रह चुके है, और प्रधानमंत्री बनने की रेस में शामिल भी हुए. तो इतने बड़े नेता से तो ये...

मलाला ने कश्मीर को लेकर फिर फैलाई फेक न्यूज़

नोबेल शांति पुरुस्कार पाने के लिए चर्चित मलाला यूसुफ़ज़ई का कश्मीर को लेकर प्रेम एक बार फिर जाग उठा है. मलाला मोहतरमा ने ट्विटर पर कश्मीर को लेकर लगातार 7 ट्वीट्स पोस्ट करके...

क्या यूनिफॉर्म सिविल कोड होगा मोदी सरकार का अगला मिशन?

यूनिफार्म सिविल कोड यानी समान नागरिक आचार संहिता. अगर सरल भाषा में कहें तो ऐसा क़ानून जो सभी धर्म के लोगों पर समान रूप से लागू हो. दुनिया के अधिकतर देशों में...

निष्पक्षता के नाम पर हर बार एकतरफा बाते क्यों करती है ज़ैनब मैडम ?

अक्सर हमे सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे ट्वीट देखने को मिलते रहते है. ये हमे खासकर तब दिखते हैं जब हिंदू त्यौहार आने लगते है, तब अचानक से हमारे देश कि लिबरल...

शिवकुमार की बेटी ने किया है इतने का घोटाला की आप ज़ीरो गिनते-गिनते थक...

कभी-कभी सत्ता में बैठे लोग ये भूल जाते हैं की एक दिन उन्हें उस पर्वत से उतरना भी होगा, सत्ता काबिज़ कर ये अंधाधुन्द लूट मचाते हैं और फिर सत्ता से बेदखल किये जाने...

The Print की जैनब सिकंदर को गुजरात की इतनी चिंता क्यों है ?

मोटर व्हीकल एक्ट 1 सितंबर से लागू हो गया है. ये तो आप सब लोगों पता ही होगा. जो लोग ट्रैफिक नियमों का पालन नही करते उन्हें परेशानी भी हो रही होगी....

BHU परिसर में निकाला गया ताजिया, विरोध में धरने पर बैठे छात्र

देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में शुमार है बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU). मंगलवार यानी 10 सितम्बर को मुहर्रम की वजह से विश्वविद्यालय में छुट्टी थी. माहौल शांत था. ये शांत माहौल शोर में...

मिसेज एशिया USA का खिताब जीत कर नीलम ने बढ़ाया भारत का मान

मिसेज एशिया USA, का ख़िताब भारत की बेटी नीलम सिंघाल ने जीत लिया है. नीलम उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से हैं. इस कांटेस्ट में पूरे एशिया से कई सुंदरियों ने हिस्सा लिया...

दिल्ली बना दुनिया का तीसरा सबसे ज्यादा नशे करने वाला शहर

वैसे तो इंडिया में weed illegal है. लेकिन, एक रिपोर्ट ने चौका देने वाला सच सभी के सामने ले आया है, इंडिया के दो सबसे बड़े शहर जहां पर weed पूरी तरह...

अफ्रीका का वो तानाशाह जिसने दरिंदगी की सारी हदें पार कर दीं थी

देश युगांडा, साल 1972, एक फरमान जारी किया गया कि एशियाई मूल के लोग 80  दिनों के अन्दर इस देश से निकल जाएँ, नहीं तो अंजाम बेहद बुरा होगा. पहले तो लोगों...