भारतीय रेल ने अब शुरू किया प्लास्टिक के खिलाफ मुहीम, जारी किये गये शख्त आदेश

861

15 अगस्त को लाल किले से अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी सिंगल यूज प्लास्टिक को रोकने की बात कही थी. इस पर अब अमल होने लगा है. दरअसल भारतीय रेलवे ने अब प्लास्टिक के खिलाफ मुहिम छेड़ दिया है. मिली जानकारी के मुताबिक़ अब रेल मंत्रालय ने प्लास्टिक के सामानों पर रोक लगाने का फैसला किया है इसे लेकर मंत्रालय ने सभी रेलवे इकाइयों को निर्देश भी दे दिया है.

रेल मंत्रालय के निर्देश में साफ़ साफ़ कहा गया है कि 2 अक्टूबर से 50 माइक्रोन से कम मोटाई वाली प्लास्टिक सामग्री के एकल-उपयोग पर प्रतिबंध लगा दें। मंत्रालय ने ये फैसला इसलिए लिया है ताकि प्लास्टिक कचरे का उत्पादन कम हो सके और पर्यावरण के अनुकूल इसका निपटान हो सके. ये आदेश सख्त रुप से 2 अक्टूबर से लागू कर दिया जाएगा. रेलवे ने तुरंत सिंगल यूज प्लास्टिक को रोकने का फैसला लिया है. साथ ही सलाह दी गई है कि दोबारा इस्तेमाल में आने वाले पर्यावरण के अनुकूल बैग यानी की ईको फ्रेंडली बैग का इस्तेमाल किया जाए.

यहाँ आपको जानकारी के लिए बता दे कि लोकसभा सचिवालय की तरफ से संसद परिसर में सिंगल यूज प्लास्टिक और बोतलों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है. लोकसभा सचिवालय ने इसे लेकर जारी निर्देश में संसद भवन में काम करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को प्लास्टिक के सामान के बजाय पर्यावरण के अनुकूल थैलों या सामान का इस्तेमाल करने की सलाह दी है

दरअसल सिंगल यूज प्लास्टिक से पर्यावरण को बड़ा नुकसान झेलना पड़ रहा है. ये प्लास्टिक जल्दी खत्म नही होती और ना ही ये प्लास्टिक गलती हैं. ऐसे में ये प्लास्टिक धीरे धीरे, छोटे छोटे टुकड़ों में पानी और मिटटी में मिल जाते हैं. जिससे हमें नुकसान हो रहा है. कई राज्यों में प्लास्टिक पर बैन लगाया गया है लेकिन इस पर सरकार और प्रशासन कितना गंभीर है, ये तो आप खुद देख सकते हैं.