अभिनंदन वर्धमान को वीर चक्र से किया जाएगा सम्मानित

1034

भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को स्वतंत्रता दिवस पर वीर चक्र से सम्मानित किया जाएगा.वीर चक्र भारत में युद्ध के समय दिया जाने वाला तीसरा सर्वोच्च सम्मान है. इसके साथ ही स्क्वाड्रन लीडर मिन्टी अग्रवाल को युद्ध सेवा पदक से सम्मानित किया जाएगा.अभिनंदन ने 27 फरवरी को मिग-21 बाइसन से पा’किस्तान के एक एफ-16 विमान एक विमान मार गिराया था. बाद में उनका विमान एक मिसाइल का निशाना बन गया जिसके नष्ट होने से पहले ही वे विमान से निकल गए थे और उसके बाद पीओके में फंस गए थे. लेकिन भारत के दबाव में आने के बाद पा’किस्तान को अभिनंदन को छोड़ना पड़ा. पा’किस्तानी सुरक्षा बलों ने अभिनंदन को गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन लगभग 60 घंटों के बाद ही उन्हें वाघा बॉर्डर पर भारत को वापस कर दिया था.

इसके अलावा बालाकोट एयरस्ट्राइक में शामिल पाँचों पायलटों को भी वायु सेना पदक से सम्मानित किया जाएगा. मिराज-2000 के पायलट विंग कमांडर अमित रंजन, स्क्वाड्रन लीडर राहुल बसोया, पंकज भुजडे, बीकेएन रेड्डी, शशांक सिंह को वीरता पदक दिया जाएगा. युद्ध में दुश्मन को परास्त करने में दिखाई गई अभूतपूर्व वीरता के लिए यह पुरस्कार दिया जाता है. इसे युद्धकाल में साहस दिखाने के लिए दिया जाता है. यह मैडल सिल्वर का बना होता है और इसमें पांच कोनों वाला उभरा हुआ सितारा बना होता है. इसे आधा नीला और आधा नारंगी रंग के फीते के साथ दिया जाता है.

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान एक बार फिर से मिग-21 फाइटर जेट उड़ाते नजर आएंगे. मेडिकल बोर्ड ने कॉकपिट में उनकी वापसी को हरी झंडी दे दी है. इसके लिए अभिनंदन को मेडिकल फिटनेस टेस्ट से गुजरना पड़ा, जिसमें वो पास हो गए. बताया जा रहा है कि अभिनंदन अगले दो सप्ताह में फाइटर प्लेन मिग-21 में उड़ान भरना शुरू कर सकते हैं. अभिनंदन पा’किस्तानी सीमा में कैद हो गए थे, लेकिन बाद में उन्हें भारत को वापस सौंप दिया गया था. इसके बाद वायुसेना ने उनकी फ्लाइंग ड्यूटी पर रोक लगा दी थी.